अपने रिज्यूमे को इस तरह बनाएं प्रेजेंटेबल

आज के इस कॉम्पटेटिव वल्र्ड में एक डीसेंट जॉब पाने के लिए खुद को हर तरह से प्रिपेयर करना पड़ता है। टॉप कंपनीज के सामने खुद को नोटिस कराने के लिए जरूरी है कि आपके पास प्रोफेशनल रिज्यूमे होना चाहिए।आपका रिज्यूमे एंप्लॉयर को आपके पर्सनालिटी के बारे में बताते है। यहां हैं कुछ टिप्स जो जॉबसीकर्स को उनका रिज्यूमे आर्टक्टिव बनाने में हेल्प करेंगा।

  • फॉर्मल फॉर्मेट चुने

जनरली रिज्यूमे तीन तरह के होते हैं, क्रोनोलॉजिकल, फंक्शनल और इन दोनों का कॉम्बिनेशन। ज्यादातर ऑर्गनाइजेशंस में क्रोनोलॉजिकल रिज्यूमे प्रिफर किया जाता है क्योंकि यह टाइमलाइन के साथ कैंडिडेट की प्रोफेशनल हिस्ट्री एक्सप्लेन करता है। यह स्टाइल उन कैंडिडेट्स के लिए अच्छी होती है जो अपनी ही लाइन में जॉब स्विच करते हैं। फंक्शनल रिज्यूमे उन प्रोफेशनल्स के लिए बेस्ट होता है जो नई फील्ड में जॉब सर्च कर रहे होते हैं।

  • हैडिंग से शुरूआत करें

अपने रिज्यूमे को दूसरों से अलग करने के लिए इसकी स्टाटिंग हैडिंग से करें। हैडिंग स्ट्रेट और बैलेंस्ड होनी चाहिए जो आपको भी डिस्क्राइब करती हों। अगर आप किसी सीरियस प्रोफाइल पर काम करने के लिए अप्लाई कर रहे हैं तो पैंâसी हैडिंग से बचें।

  • जॉब ऑब्जेक्टिव

प्रोफेशनल रिज्यूमे में कैंडिडेट का जॉब ऑब्जोqक्टव पूरी तरह से क्लीयर होना चाहिए। इसमें आपको अपने व्यूज और थॉट्स एक्सप्रेस करने होते हैं कि आप ऑर्गनाइजेशन की सक्सेस में किस तरह से कॉन्ट्रीब्यूट कर सकते हैं।

  • क्वॉलिफिकेशन

रिज्यूमे में सिर्फ अपने बोर्ड एग्जाम्स, ग्रेजुएशन और अपनी लास्ट अकेडमिक क्वॉलिफिकेशन के परसेंटेज ही मेंशन न करें बल्कि अपना स्कूल बोर्ड, स्कूल और कॉलेज का भी नाम मेंशन करना न भूलें।

  • अचीवमेंट

यह एक ट्रिकी एरिया होता है. इसमें कुछ कैंडिडेट्स अपने स्कूल, कॉलेज के अचीवमेंट्स की लंबी लाइन बना देते हैं वहीं कुछ कैंडिडेट्स इस एरिया को मिस कर जाते हैं। अगर आप किसी ग्रुप या वॉलेंट्री ऑर्गनाइजेशन के मेंबर हैं और आपने अपनी सोसाइटी के लिए कुछ किया है तो उसे मेंशन करें। स्टेट या नेशनल लेवल के अचीवमेंट्स को भी इसमें लिख सकते हैं।

  • कम्यूनिटी सर्विस

इस सेक्शन में ग्रुप एग्जिटविटिज या टीम के साथ काम करने की अपनी कैपेबिलिटी के बारे में मेंशन करें। इससे यह शो होता है कि आप किस तरह की एग्जिटविटिज में इन्वॉल्व्ड रहना पसंद करते हैं और सोसाइटी की किस तरह से हेल्प कर सकते हैं।

  • पर्सनल डिटेल्स

अपनी डीटेल्स को ज्यादा लंबा न रखते हुए उसमें सिर्फ अपना नाम, डेट ऑफ बर्थ, पिता का नाम, एड्रेस, फोन नंबर और ईमेल आईडी मेंशन करें। आपकी यह सभी डीटेल्स एंप्लॉयर के लिए सफिशियंट होती हैं।

Loading...
loading...
Comments