समय के साथ करियर को दे नए आयाम

अब औद्योगिक क्रांति का दौर खत्म हो चुका है और सूचना क्रांति जड़ें पकड़ रही है, बीते समय के तौर-तरीके और उनकी पैरवकार कंपनियां, दोनों जल्द ही अंतिम सांसें ले रहे होंगे। ऐसे में खुद को नौकरी के योग्य बनाना अब आपकी जिम्मेदारी है। ऐसे में करियर के मामले में खुद लीड लेना ही प्रोडक्ट्व बने रहने और भविष्य में अपनी नौकरी में खुश रहने का एकमात्र तरीका है।

ध्यान रखें कि नए दौर की कंपनियां आपके डेवलपमेंट पर अपना समय और पैसा लगाकर आपको नौकरी के लिए योग्य बनाने का बीड़ा कतई नहीं उठाने वालीं। व्यापारिक योजनाओं की तरह ही करियर संबंधी योजनाओं को भी तयशुदा तरीके से लागू किया जा सकता है। करियर प्लानिंग और करियर मैनेजमेंट दरअसल समस्या का समाधान करने और फैसले लेने से संबंधित प्रक्रिया है। समस्याओं का समाधान करने और फैसले लेने का काम उपलब्ध अधिकतम जानकारी के आधार पर और पूरे तर्कसंगत तरीके से किया जाना चाहिए। सफल व्यापारों की तरह करियर के मामले में भी यह किया जा सकता है। अपनी करियर संबंधी गतिविधियों को उपलब्ध संसाधनों और बाहरी अवसरों के आधार पर प्लान करें। करियर योजना को छोटे-छोटे चरणों में बांटकर अंजाम दें। फिर प्राप्त नतीजों को बारीकी से समझते हुए आगे की कार्रवाई में अपेक्षित परिवर्तन करें।

Prev post1 of 3

Loading...
loading...
Comments