बढ़ती उम्र में सेक्स की चाहत क्यों होती है अधूरी

भारतीय सामाजिक परिवेश में बडी उम्र में सेक्स की चाह को गलत नजरिए से देखा जाता है। इस मामले में महिलाओं और पुरूषों दोनों को कई बार ऎसा महसूस होता है कि हमारी इतनी उम्र में हो गई इस उम्र में अगर हम लोग यह काम करेंगे तो अच्छा थोडे लगेगा। जबकि यहां बात अच्छा लगने या न लगने की नहीं बल्कि शारीरिक जरूरत है। वैसा भी यह एक आम समस्या बनती जा रही है। कई महिलाओं और पुरूषों को जिनकी उम्र 40-45 से ऊपर होती है उनमें सैक्स की तीव्र इच्छा जागृत होती है लेकिन वे लोग अपनी इस संकीर्ण सोच की वजह से यह काम करना पसन्द नहीं करते हैं।

जिसके चलते वह अकेले में कुछ ऎसे साधनों का प्रयोग करते हैं जो उन्हें नहीं करने चाहिए। उम्र के इस पडाव पर आकर महिला और पुरूष दोनों को यह महसूस होने लगता है कि हमारे बच्चे बडे हो रहे हैं हमें सेक्स के प्रति अपना नजरिया बदलना चाहिए। उन्हें अपने साथी के साथ सेक्स की इच्छा और प्यार की चाह रहती है। लेकिन अपने बढते बच्चों के कारण उन्हें अपनी सेक्स इच्छा को लेकर ग्लानि महसूस होती है। वे जबरदस्ती स्वयं पर संयम रखने का प्रयास करते हैं।

बकि सबसे पहले उन्हें अपने दिमाग से इस बात को निकाल देना चाहिए कि उनकी उम्र हो रही है और उनके बच्चे हैं जिसके कारण उन्हें सैक्सुअल लाइफ एंजॉय नहीं करनी चाहिए। इस सच्चाई को स्वीकार करना चाहिए कि जब तक आपकी इच्छा और शरीर साथ देता है, तब तक सैक्स लाइफ एंजॉय करने की पूरी आजादी है। ऎसे बहुत से पुरूष महिलाएँ हैं जिन्हें इस तरह की चाह रहती है। इसलिए अपने मन में किसी भी तरह की कोई ग्लानि को पनपने न दें। अपनी सेक्सुअल लाइफ का मजा लें। लेकिन कई बार 45 वर्ष के आसपास पहुंच चुकी महिलाओं को अपने पति या साथी के साथ सैक्स करने के बाद सन्तुष्टि का अभाव महसूस होता है।

कई बार वे ऑर्गेज्म तक भी नहीं पहुंच पाती। लेकिन जब उन्हें उनकी उम्र की दूसरी महिलाएँ अपने पति के साथ सैक्स सम्बन्धों के बारे में बताती हैं तो उन्हें अपने आप में कमी का अहसास होता है। इस बात के लिए उन्हें अपनी सोच बदलनी चाहिए। हर किसी की सेक्सुअल लाइफ अलग-अलग होती है, जिसकी तुलना किसी और के साथ नहीं की जा सकती। इसलिए दूसरों के पास क्या है या फिर वे क्या कर रहे हैं, इन सब बातों को छोड दें और अपनी सैक्स लाइफ पर ध्यान दें।

45 की उम्र की महिलाओं में कई कारणों से ऑर्गेज्म तक न पहुंच पाना एक आम समस्या होती है। कई बार ऑर्गेज्म तक पहुंचने में उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पडता है। इस मामले में उन्हें खुलकर अपने पति या साथी से बात करनी चाहिए।

Loading...
loading...
Comments