कार्य में समृद्धि के लिए आफिस में करें ये उपाय

आप का ऑफिस यानी कार्यालय आपके पेशे या व्यापार के लिए सोचने, काम के क्रियान्वन, व्यापार में वृध्दि और धन सृजन की जगह है। इस स्थान पर आप और ऑफिस में कम करने वाले आपके अन्य सहयोगी अपनी आजीविका कमाने, अपनी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने और पेशे या व्यवसाय में सफलता प्राप्त करने के लिए अपने उत्पादक समय का एक बड़ा हिस्सा व्यतीत करते हैं। आपके कार्यालय का आकार और डिजाइन कर्मचारियों को सकारात्मक ऊर्जा देने वाला और कार्य में समृद्धि देने वाला होना चाहिए।

✦ आपके कार्यालय के लिए बुनियादी वास्तु सुझाव

✧ कार्यालय की इमारत के लिए प्लॉट चौकोर या आयताकार होना चाहिए. अनियमित आकार के भूखंडों से बचा जाना चाहिए।

✧ ऑफिस के मुखिया या मालिक के बैठने का स्थान, दक्षिण पश्चिम कोने में होना चाहिए और बैठते समय उत्तर की तरफ का सामना करना चाहिए।

✧ अन्य वरिष्ठ सदस्यों को दक्षिण या पश्चिम में बैठना वास्तु सम्मत हें जब वे दक्षिण में बैठे हो तो उत्तर का सामना करना चाहिए और पश्चिम में बैठते समय पूर्व का सामना करना चाहिए।

✧ पूर्व और उत्तरी पक्षों की जगह जूनियर स्तर के कर्मचारियों के लिए हैं।

✦ विभागों के लिए उपयुक्त जगह

✧ स्वागत कक्ष उत्तर पूर्व में उपयुक्त होगा और आगंतुकों से मिलने के लिए कक्ष उत्तर पूर्व या उत्तर पश्चिम दिशा में बनाया जा सकता है।

✧ कार्यालय में जल निकायों के लिए उपयुक्त स्थान उत्तर पूर्व या पूर्व की ओर है, लेकिन छत पर रखी पानी की टंकीया पश्चिम या दक्षिण पश्चिम में होनी चाहिए।

✧ वित्त विभाग के लिए दक्षिण पूर्व दिशा और बिक्री एवं मार्केटिंग की टीम के लिए कार्यालय में उत्तर पश्चिमी दिशा उत्तम हैं।

✧ कैफेटेरिया/ कैंटीन दक्षिण पूर्व या उत्तर पश्चिम की ओर में होना चाहिए।

✧ शौचालय के लिए पश्चिम और उत्तर पश्चिम दिशा उपयुक्त हैं।

✧ छत की बीम के नीचे किसी भी बैठने की व्यवस्था नहीं करनी चाहिए।

✧ कार्यालय के केन्द्रीय क्षेत्र को खाली रखा जाना चाहिए।

Loading...
loading...
Comments