ऑफिस में दोस्त बनाने हैं तो ऐसे करें बातचीत की शुरुआत

ऑफिस में दोस्त बनाना अच्छा है। इन टिप्स को फॉलो करते हुए इस प्रोसेस को जरा आसान किया जा सकता है। जानिए कैसे…office-GF

फाइन्ड द मीटिंग प्वाइंट

हर ऑफिस में एक गैदिंरग पॉइंट होता ही है जहां सभी इकट्ठा बैठ सकते हैं, या ग्रुप्स बनाकर बैठते हैं, बातें करते हैं, खाते-पीते हैं। कॉफी वेंडिंग मशीन और वॉटरकूलर्ज ऐसे ही कुछ स्पॉट्स हैं। ये जानने कि को शिश करें कि जिन कलीग्स को आप जानना चाहते हैं वे कहां बैठते हैं। एक बार जगह पता चल जाए तो आप भी वहां उसी वक्त पहुंचे जिससे कि आपको उनसे बात करने का मौका मिल सके। कॉफी पसंद न हो तो भी ऐसे ब्रेक्स जरूर लें क्योंकि इस तरह के कॉफी ब्रेक्स की वजह से ही आपको अच्छे दोस्त मिल सकते हैं।

ऑफर ए स्नैक

अपने कलीग के दिल में जगह बनाने के लिए भी रास्ता पेट से होकर ही जाता है। बहुत से आईटी फम्र्स में काम करने वालों की मानें तो अपने जैन, या डायबेटिक कलीग्स के पसंद का खाना लाकर उन्हें खिलाएंगे तो आपस में बेहतर रेपो बन सकेगा। इसलिए ऑफिस वालों के डायटरी पसंद-नापसंद पर ध्यान देना शुरू कर दें।

बी पॉजीटिव

किसी को ही ऐसे किसी व्यक्ति के आसपास रहना पसंद नहीं आता है जो हमेशा सीरियस होकर घूमता रहता हो या ज्यादा चिढ़-चिढ़ा हो। खुद को हमेशा चीयरफुल बनाकर रखें और बातचीत करते हुए खुश नजर आएं। अगर कोई अच्छा दिख रहा है तो उसकी तारीफ करना न भूलें, किसी ने अच्छा काम किया तब भी तारीफ जरूर करें और दिल से करें।

अवॉइड गॉसिप

ऐसे लोगों से आपकी दोस्ती करने की इच्छा नहीं भी हो सकती है जो सारा दिन गॉसिप और ऑफिस पॉलिटिक्स में उलझे रहते हैं। अपने ताल्लुकऔर बातचीत साफ रखें और इस तरह आपके पास सही लोग ही ठहरेंगे। वर्कपेस के बारे में कुछ अच्छा बोलने पर फोकस करें, इस तरह गुडविल बनेगी। अगर आप गलत लोगों के साथ उठेंगे-बैठेंगे तो न चाहते हुए भी आपका इम्प्रेशन गलत ही पड़ेगा। इसलिए सही लोगों के साथ ताल-मेल बनाएं।

स्टेप आउट फॉर ए मील

किसी नए रेस्टोरेंट में सभी को लेकर जाएं। ये ट्रिक हमेशा काम करती है। ऐसा रेस्टोरेंट चुनें जो वाकई अच्छा हो और अपने साथियों की राय भी लें। अपनी आउिंटग को यादगार बनाने की पूरी कोशिश करें। इस तरह अपने कलीग्स को बेहतर जानने का आपको पूरा मौका मिलेगा।इसी तरह उन लोगों को बभी आपको जानने का अवसर मिलेगा।

इफ यू आर ए इंट्रोवर्ट

अगर आप इंट्रोवर्ट हैं और ज्यादा मेल-जोल रखने में झिझकते हैं या करना नहीं चाहते तो वॉट्स ऐप ग्रुप के जरिए बात शुरू करें। इस तरह लोगों से बात करना आपके लिए आसान हो जाएगा।

इफ यू आर ए एक्सट्रोवर्ट

अगर एक्स्ट्रोवर्ट हैं तो ज्यादा ध्यान रखें। अपनी बातचीत से किसी को डराएं नहीं न ही किसी को कॉम्प्लेक्स में डालें और न ही डॉमिनेट करने की कोशिश करें।

Loading...
loading...
Comments