कभी आपने सुना है नशाखोर तोते के बारे में, जी हां पूरा झुंड है शामिल

आपने आज तक यहीं सुना होगा कि एक इंसान ने शराब पीकर हंगामा किया या बीवी बच्चों को मारा है, लेकिन राजस्थान के इस गांव की कहानी ही कुछ अलग है। यहां किसी इंसान ने नहीं बल्कि तोतों ने मिलकर नशाखोरी कर गांव में आफत मचाकर रखी है।

यह मामला राजस्थान के चितौड़गढ़ नामक जिले का है। अफीम की खेती करने वाले किसानों को यहां पर एक नए तरीके की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल अफीम की खेती को काटने के बाद उसमें से एक अलग तरह का तरल पदार्थ निकलता है, जिसे चूसने के लिए काफी ज्यादा संख्या में ताते खेतों में आकर बवाल मचा रहे हैं।

किसानों ने बताया कि तोते इस नशीले तरल पदार्थ का सेवन कर पेड़ों पर जाकर बैठ जाते हैं। जिसके कुछ देर बाद वह पेड़ से नीचे गिर जाते हैं या फिर किसी अन्य पक्षी के द्वारा मारे दिए जाते हैं। उनके अनुसार उनके इलाके में पक्षियों की कई तरह की प्रजाति हैं लेकिन इस तरल नशीले पदार्थ की ओर सिर्फ तोते ही आकर्षित होते हैं।

इन नशे में चूर तोतों की हरकतों ने गांव वालों को काफी परेशान किया हुआ है। जिस के कारण वह खेती भी नहीं कर पाते और इस मुसीबत से कैसे समाधान पाया जाए यह भी उनको नहीं पता चल पा रहा है।

Loading...
loading...
Comments