महिलाएं सिजेरियन सर्जरी के बाद ऐसे रखें अपनी सेहत का ध्यान..!!

सिजेरियन सर्जरी या सी सेक्शन द्वारा बच्चे को जन्म देना ऐसी चीज़ है जिसे मां बनने वाली अधिकतर महिलाएं और उनके परिवार नहीं अपनाना चाहते।

लेकिन कई बार सी सेक्शन मां और बच्चे के स्वास्थ पर होने वाले खतरे को बचाने का एकमात्र तरीका बन जाता है। नॉर्मल डिलीवरी के विपरीत सी सेक्शन ऑपरेशन महिला के शरीर पर बहुत बुरा असर डालते हैं।

इसलिए यह ज़रूरी है कि सर्जरी के बाद महिलाएं अपना खास ध्यान रखें ताकि सी सेक्शन ऑपरेशन के बाद शरीर जल्द ही स्वस्थ हो जाए और आप आने जीवन की दौड़-भाग में लग जाएं।

यह 10 महत्वपूर्ण टिप्स आपको सी सेक्शन के बाद जल्द स्वस्थ होने के लिए आवश्यक हैं।

  • चलते-फिरते रहना: एक बार जब शरीर में लगी निकास नली हट जाए, आप फिर से टहलना शुरू कर सकती हैं। चाहे तो शुरू-शुरू में नर्स की मदद ले लें। फिर धीरे-धीरे आप खुद ही चलने-फिरने लगेंगी। ऐसा करने से आप जल्द स्वस्थ होंगी। लेकिन ऐसा करने में इस बात का ध्यान रखें कि स्वस्थ होते शरीर पर बेवजह का बोझ ना आये।
  • भरते हुए घावों का ध्यान रखें: टाकों का सूखना बहुत आवश्यक होता है। साथ ही ऑपरेशन की वजह से हुए भीतरी घाव सूखने भी बहुत ज़रूरी हैं। डॉक्टर द्वारा दी गयी दवाइयों को सही समय पर लेती रहें और ध्यान रखें कि घाव वाले किसी हिस्से पर गलती से भी पानी ना लगे।
  • हल्का भोजन लें: सर्जरी के दौरान आपने बहुत तकलीफें सही हैं। उस दौरान आपने ना के बराबर आहार लिया होगा। अतः अब आप कुछ भी खायेंगी तो ज़ाहिर सी बात है कि आपको मितली लग सकती है। आवश्यक है कि इस दौरान आप बहुत हल्का और ओशक आहार लें। ताकि आपका पाचन तंत्र आसानी से उसे पचा सके। अभी कुछ और दिनों तक हल्के आहार पर ही टिकी रहें।
  • बाथरूम समय पर अवश्य जाएं: याद रखें, जब भी आपको बाथरूम जाना ज़रूरी हो, आप बिना किसी देरी के अवश्य मूत्रविसर्जित कर लें। इस काम में आपको असहनीय दर्द हो सकता है लेकिन कई बार प्राकृतिक गतिविधियों को रोक लेने से आपके ताज़े टाकों पर बेवजह का दबाव पड़ेगा और आपको तकलीफ का सामना करना पड़ेगा।
  • भार ना उठायें: इस दौरान कोई भी भार ना उठायें। ऐसा करने से टाकों और ऑपरेशन वाले हिस्से पर दबाव पड़ेगा। अभी आपके भीतरी अंगों के घाव भी भर ही रहे हैं। इसीलिए अभी कई हफ़्तों तक कोई भी सामान उठाने से परहेज करें।
  • आराम की अवस्था में सोएं: आपके टाँके कट आने के बाद भी कई हफ़्तों तक आपको एक करवट सोना पड़ सकता है ताकि आपके घाव जल्दी भरें। सोने के दौरान आराम की अवस्था में सोएं ताकि आपको भरपूर नींद मिल सके।
  • व्यायाम करने की जल्दीबाज़ी ना करें: ऑपरेशन के बाद अपने शरीर को भरपूर आराम दें। अपनी पुरानी जींस या पुराने कपड़ों में फिर से घुसने की हड़बड़ी ना करे। अभी आपके पेट के हिस्से पर कोई भी दबाव देना खतरनाक हो सकता है। अभी अपने नवजात शिशु के को लेकर थोड़ा टहल लें ताकि शरीर को थोड़ी सी गति मिलती रहे। फिलहाल इतना ही व्यायाम काफी है।
  • अपने शिशु के पास ही सोएं: यदि आपका बच्चा पालने में सो रहा है तो आप भी अपना बिस्तर उस पालने के पास रखें। ताकि अपने बच्चे को दूध पिलाने के आपको बहुत दूर जाने की मेहनत ना करनी पड़े। अतिरिक्त मेहनत आपके टांकों पर बुरा असर डाल सकती है।
  • सेक्स ना करें: भले ही डॉक्टर के अनुसार आपको बस शुरूआती 40 दिनों तक सेक्स के लिए मना करें, लेकिन जब तक आप पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हो जातीं, सेक्स से दूरी बनाए रखें। अपने पति से बात करें ताकि किसी भी तरह की ग़लतफ़हमी ना हो।
  • कब्ज़ ना होने दें: मल त्याग के समय अतिरिक्त दबाव ना लगाएं क्योंकि डिलीवरी के बाद अक्सर कब्ज़ की शिकायत हो जाती है। पेट पर दबाव डालना खतरनाक हो सकता है। अतः खूब पानी पियें और हल्का आहार खाएं।

Loading...
loading...
Comments