सैन्य अफसर बनने का बेहतर मौका, कैसे करें तैयारी

यूपीएसी हर साल सीडीएस लिखित परीक्षा आयोजित करता है, जिसमें बेहतर करने के बाद ही एसएसबी के लिए बुलाया जाता है। सम्मिलित रक्षा सेवा (सीडीएस) परीक्षा को संघ लोक सेवा आयोग आयोजित करता है। जहां राष्ट्रीय रक्षा एकेडमी एनडीए में चुने जाने वाले ट्रेनी छात्र 18 साल से कम उम्र के होते हैं वहीं सीडीएस में चुने गए ट्रेनी अफसर की उम्र 20 से अधिक होती है। इसलिए यह माना जाता है कि सीडीएस के जरिए बालिग उम्र में सेना से जुड़ने का सुनहरा मौका होता है।

परीक्षा में औसतन 60 फीसद अंक लाना जरूरी

इसमें सफल होने वाले अभ्यर्थियों का एडमिशन इंडियन मिलिटरी एकेडमी, नेवल एकेडमी, एयर फोर्स एकेडमी या ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी में होगा। लिखित परीक्षा में अंग्रेजी, गणित और जनरल नॉलेज के पेपर दो-दो घंटे के होते हैं जो कुल 100 अंकों का होता है। लिखित परीक्षा में बेहतर करने के बाद ही एसएसबी के लिए बुलाया जाता है।

अनुमान के मुताबिक, सीडीएस की लिखित परीक्षा में औसतन 60 फीसद अंक लाने वालों को एसएसबी के लिए बुलाया जाता है। हालांकि यूपीएससी के नियम के मुताबिक, कट ऑफ की जानकारी पाना आसान नहीं होता है। ऐसे में सबसे सही विकल्प यही है कि अभ्यर्थियों को सभी पेपर में कम से कम 45 फीसद अंक लाने की कोशिश करनी चाहिए और सभी पेपरों में कुल मिलाकार 60 फीसद अंक लाने की।

इस परीक्षा में निगेटिव मार्किग भी है, इसलिए हर सवाल का जवाब देने के दौरान ध्यान रखें। अहम जहां तक ऑफीसर्स ट्रेनिंग एकेडमी की बात है तो इंटरव्यू की मैरिट लिस्ट बनाने में गणित के अंक नहीं जोड़े जाते। इस परीक्षा की तैयारी करते वक्त अकसर देखा जाता है कि अभ्यर्थी अपना ज्यादा ध्यान गणित और अंग्रेजी पर देते हैं जिससे उनका जनरल नॉलेज का पेपर सही नहीं जाता और इस पेपर में काफी कम अंक आते हैं।

Loading...
loading...
Comments