ऐसे चमाचम चमके कांच

कांच हमेशा चमचमाता ही सुंदर लगता है। चाहे कांच के बर्तन हो या खिड़की और दरवाजे पर लगे हो या टेबल पर। कांच कितना भी महंगा हो पर मैला या दागदार हो तो बहुत गंदा लगता है। कांच अगर साफ-सुथरा चमक रहा हो तो लगता है मानो नया हो।

गंदा दागदार हो तो उसकी उम्र का अंदाजा ही नहीं होता, लगता है वर्षों पुराना कांच है। घर के दरवाजों और खिड़कियों पर कितना भी महंगा और स्टाइलिश कांच क्यों न हो, अगर उसकी चमक फीकी है तो सारी लुक बहुत खराब लगती है। अगर कांच चमचमाता है तो उसकी लुक बहुत अच्छी लगती है। कांच चमचमाता रहे तो इसके लिए आवश्यकता है उचित देखभाल की।

कांच सफाई की शुरुआत सूखे नर्म कपड़े से करें। पहले कांच की धूल मिट्टी साफ करें। जिससे कांच पर निशान न पड़े। उसके बाद एक डिब्बे में दो हिस्से पानी और एक हिस्सा वेनेगर डालें। फिर गीले नर्म ब्रश या कपड़े से कांच को पोंछ लें। वेनेगर की गंध सूखने पर दूर हो जाती है। कभी-कभी तंग स्थान वाले कांच की सफाई करनी हो तो स्प्रे करने वाली बोतल में मिश्रण भर लें, फिर स्प्रे करें। इससे सभी कोनों की सफाई आसानी से हो जाएगी। कांच की सफाई करते समय कपड़ा वह लें जो नर्म हो पर रोएंदार न हो।

जिस कांच पर ग्रीस लगी हो उसको साफ करने के लिए मिश्रण थोड़ा स्ट्रांग बनाएं और नर्म स्क्रबर का प्रयोग करें। जब कभी ग्लास गीले कपड़े से साफ करने के बाद भी कुछ धुंधला दिखे तो उस पर पानी का स्प्रे करके अखबार से पोंछ दें। एकदम शीशा चमक जाएगा। शीशा साफ करने के बाद उसे एकदम छुएं नहीं। छूने से उंगलियों के निशान उस पर पड़ जाएंगे। 10-15 मिनट बाद आप उसे छू सकते हैं। सप्ताह में एक बार शीशे की सफाई अवश्य करें नहीं तो धूल की परत जमती चली जाएगी। खाने वाले मेज पर अगर खाना गिर जाता है या नहीं भी गिरता तब भी प्रतिदिन उस टेबल टाप को साफ करना न भूलें।

Loading...
loading...
Comments