माथे पर लिखा होता है हर व्यक्ति के बारे में

हर व्यक्ति के बारे में उसके माथे पर ही लिखा होता है। यानी माथे पर खींची हुई रेखाओं को अगर पढ़ना सीख लें तो किसी भी व्यक्ति के बारे में पूरी जानकारी आपको मिल सकती है कि वह कैसा है।

जिस व्यक्ति के माथे पर स्वच्छ, सरल, गम्भीर, पूर्ण तथा स्पष्ट रेखाएं होती है वह दीर्घायु एवं सुखी होता है। ललाट के एक छोर से दूसरे छोर तक जाने वाली एक स्पष्ट रेखा 20 वर्ष की आयु दर्शाती है। ऐसी जितनी रेखा ललाट पर होती है व्यक्ति की आयु उतनी होती है। जिनके मस्तक पर छोटा सा चांद बना हुआ होता है उन पर ईश्वर की विशेष कृपा होती है। ऐसे व्यक्ति महान संत, सन्यासी, उपदेशक अथवा योगी होते है।

मस्तक पर जितनी रेखाएं बनी होती हैं व्यक्ति के उतने ही भाई-बहन होती है। मोटी रेखायें भाई की एवं पतली रेखायें बहन की मानी जाती है। जिनका मस्तक चौड़ा होता है, उस व्यक्ति के कई पुत्र होते हैं लेकिन आजीविका में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इनके बच्चे भाग्यशाली एवं कर्मठ होते हैं।

– इनके कई स्त्रियों से होते हैं संबंध

जिस व्यक्ति के मस्तक के ऊपरी हिस्से में उभार हो, और नीचे की तरफ हल्का सा झुकाव दिखे वे उच्च पद प्राप्त करते हैं। साथ ही ऐसा व्यक्तियों के कई स्त्रियों से संबंध होते हैं। अक्सर इन्हें स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिनका मस्तक नीचे से ऊपर की ओर उठा हुआ हो, वह धैर्यवान, बुद्धिमान व धनवान होता है। इनका वैवाहिक जीवन सरल एवं सुखमय होता है।

– माथे पर रेखा नहीं है तो

जिनके मस्तक पर रेखा नहीं होती है वह व्यक्ति धनी व दीर्घायु होता है। जिनके ललाट गहरे होते हैं वह गलत तरीके से धनोपार्जन करने वाले हैं। अपने गलत कार्यों के कारण इन्हें जेल भी जाना पड़ता है।

Loading...
loading...
Comments