इस देश में बेटी को करनी पड़ती है अपने ही पिता से शादी

दुनिया में अक्सर हमें अजीबो गरीब प्रथाएं देखने को मिलती है। जिन्हें देखकर हमें हैरानी भी होती है और कभी-कभी हंसी भी आती है। ऐसी ही एक प्रथा के बारे में आज हम आपको बताना जा रहे हैं। आज हम आपको एक ऐसी अजीब प्रथा के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर एक बेटी को अपने ही पिता से शादी करनी पड़ती है।

आपको यह बात जरूर मजाक लग रही होगी लेकिन यह सच है। यह प्रथा बांग्लादेश की मंडी जनजाति की है। एक अखबार के मुताबिक 30 साल ‌की ओरोला डालबोट के पिता की मृत्यु तब हो गई थी जब वो बहुत छोटी थीं। ओरोला इतनी छोटी थी कि उनकी मां ने दूसरी शादी कर ली।

ओरोला ने बताया कि उसके दूसरे पिता का नाम नॉटेन था, लेकिन किशोरावस्‍था में प्रवेश करते ही वह यह जानकर दंग रह गई कि उनके दूसरे पिता नॉटेन ही उनके पति हैं। ये सुनते ही ओरोला के कदमों तले जमीन खिसक गई। जिस शख्स को पिता की तरह देखा, अब वही पति। तीन साल की उम्र में ही उसकी शादी उसके पिता से करवा दी गई। ये एक परंपरा है जिसे तब अपनाया जाता है जब किसी महिला का पति कम उम्र में ही चल बसता है।

यह एक ऐसी प्रथा है जहां कम उम्र में विधवा हुई लड़कियों की शादी दुसरे व्यक्ति से करवा दी जाती है और जब वह महिला किसी बेटी को जन्म देती है तो उसकी शादी भी उसी व्यक्ति से करवाई जाती है। माना जाता है कि कम-उम्र का पति नई पत्नी और उसकी बेटी का भी पति बनकर दोनों की सुरक्षा एक लंबे वक्त तक कर सकता है। ये बड़ा ही अजीब प्रथा होती है।

इस अजीब प्रथा के बाद भी ओरोला और नॉटेन के तीन बच्चे हैं। वहीं उसकी मां को भी नॉटेन से ही दो बच्चे हैं। दोनों मां-बेटी एक ही पति के साथ एक ही घर में रहती है। एक ही पति होने के कारण मां और बेटी के रिश्ते में एक दरार सी रहती है।

Loading...
loading...
Comments