बुटीक बने अतिरिक्त आय का जरिया

बुटीक खोलने का मतलब यह नहीं है कि वह चले ही। आज ग्राहक समझौता नहीं करते। तो फिर ऐसा क्या करें कि वह अच्छी आमदनी का जरिया बना रहे। पेश हैं कुछ आसान टिप्स :-

-आज लेटेस्ट फैशन की जानकारी होना बहुत आवश्यक है ताकि ग्राहकों को फैशन के हिसाब से सलाह दे सकें। अपनी जानकारी बढ़ाने के लिए टीवी देखें, फैशन मैगजीन पढ़ें, बाजार की वैरायटी देखें।

-अकसर ग्राहकों की शिकायत रहती है कि उन्हें जो तारीख दी जाती है उस दिन उन्हें कपड़े डिलीवर नहीं किए जाते। अगर आपको ग्राहकों को बांधना है तो उनका कार्य समय पर पूरा करें।

-इस बिजनेस में आपको ग्राहकों को सीधे डील करना होता है, इसलिए खासतौर से अपनी पोशाक पर ध्यान दें। यदि आप आउटडेटेड ड्रेस या बिना फिटिंग के कपड़े पहनेंगी तो ग्राहकों पर अच्छा प्रभाव नहीं पड़ेगा। वहीं स्वयं तैयार किए हुए डिजाइनर कपड़े पहनेंगी तो ग्राहक उसकी तारीफ किए बिना नहीं रहेंगे।

-आधुनिक मशीनों ने सिलाई को बहुत आसान व सृजनशील बना दिया है। अपने बुटीक में आधुनिक मशीनों का प्रयोग करें जैसे इलेक्ट्रिक मशीन, इंब्राइडरी के लिए जिगजैग मशीन, ऑटोमेटिक मशीन इत्यादि। इनके प्रयोग से कपड़ों के साथ-साथ बैडशीट, रजाई, पिल्लो कवर जैसी होम फर्निशिंग की चीजें भी बनाकर बेच सकती हैं।

-ग्राहकों को आर्कािात करने के लिए बुटीक के इंटीरियर पर खास ध्यान दें। साफ-सफाई बनाए रखने के साथ-साथ सुंदर-सुंदर ड्रेसों के पोस्टरों से भी दीवारों को सजाएं। ग्राहकों के बैठने के लिए सोफासेट रखें व बुटीक में ट्रायल रूम जरूर बनाएं।

-बुटीक का प्रचार करने के लिए अपने बिजनेस कार्ड बनवायें और ग्राहकों को दें। लोकल टीवी चौनल पर विज्ञापन दें।

-जब तक आपके बुटीक में दूसरों से अलग कुछ करने की खासियत नहीं होगी, अधिकतम लाभ नहीं कमाया जा सकता। इसके लिए पार्टी वियर या वेस्टर्न-ड्रेसों की स्टिचिंग या फिर लेडीज वियर में विशेषज्ञता हासिल करें। त्योहारों दौरान अधिक कार्यभार के चलते आमतौर पर बुटीक में ग्राहकों को इंतजार करना पड़ता है, आप ग्राहकों को समय पर उनकी ड्रेसें सिलकर देंगी तो आपके बुटीक की अलग पहचान बनेगी। इसके लिए कुछ सीमित समय के लिये अतिरिक्त टेलर मास्टर रखकर ग्राहकों की मांग को पूरा करें।

-ग्राहकों को बांधने के लिए छोटी-छोटी बातों का पूरा ध्यान रखें जैसे ड्रेस को डिलीवर करने से पहले अच्छी तरह प्रेस करें, कपड़ों में मार्जिन जरूर छोड़ें। पक्की व डबल सिलाई करें ताकि आपके कार्य में शिकायत न आए। बुटीक नया हो या पुराना, काम खत्म करने वाला नजरिया न अपनाएं। पूरी निष्ठा से कार्य करें व ईमानदार रहें।

-सिर्फ कोर्स करके न बैठ जाएं। सिलाई व डिजाइनिंग के क्षेत्र की गहन जानकारी जुटाएं। आधुनिक सिलाई मशीनों पर कार्य करना सीखें।

Loading...
loading...
Comments