ब्लोटिंग का इलाज घरेलू नुस्खों से करें

क्या आपको भी हर वक्त ब्लोटिंग होती है? अगर हां, तो आज हम आपको न्यूट्रिशनिस्ट और द गट मेकओवर की राइटर जेनेट हाइड के द्वारा बताए गए कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बता रहे हैं जो आसानी से आपके रसोईघर में मौजूद हैं।

◆ गार्लिक और ओरिगैनो – कई लोग पेट के इंफेक्शन, पेट में कुछ बैड बैक्टीरिया के बढ़ने या फिर यीस्ट की ग्रोथ बढ़ने से ब्लोटिंग की दिक्कत होने लगती है। ऐसे में आपको गार्लिक को अपनी डायट में शामिल करना चाहिए। लहसून के सेवन से बैड बैक्टीरिया मर जाते हैं और यीस्ट इंफेक्शन भी खत्म हो जाता है। गार्लिक को अपने सूप, सलाद या फिर खिचड़ी में मिलाकर ले सकते हैं। आप चाहे तो ताजे ओरिगैनो की पत्तियों को गर्म पानी में चाय की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। गार्लिक और ओरिगैनो से इस्तेमाल से आपके पेट की कई तरह की समस्याएं दूर हो सकती हैं।

◆ डेयरी उत्पाद – आप अपने रोजाना के मिल्क को अनस्वीटेंड ऑल्मंड मिल्क में बदल दें। कई लोगों को दूध पीने के बाद ब्लोटिंग शुरू हो जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि ऐसे लोगों को क्रीमी मिल्क सूट नहीं करता। ऐसे लोग जिन्हें दूध सूट नहीं करता उन्हें बादाम मिल्क पीना चाहिए।

◆ सब्जियां और फल – होल व्हाइट फूड जैसे पास्ता, ब्रेड, सीरियल जैसी चीजों को मत खाओ। इसके बजाय आपको फ्लैक्ससीड्स, नट्स, सीड्स खाएं। डिनर में ग्रील्ड सैमन मछली खाएं। साथ ही वर्जिन ऑलिव ऑयल को डायट में शामिल करें। डायट में हरी सब्जियां और फ्रूट्स शामिल करें। हरी सब्जियों को खाने से ब्लोटिंग की समस्या दूर होती है। मशरूम, लहसून, और फाइबर फूड को डायट में शामिल करें।

◆ ऐप्पल साइडर, रेड वाइन और ऑलिव ऑयल – ऐप्पल साइडर वेनेगर सेहत के बहुत अच्छा है। ऑलिव ऑयल में कुछ वेनेगर मिक्स करके सलाद में डालें। इससे पेट में एसिडिटी कम होगा और डायजेशन बेहतर होगा। साथ ही ब्लोटिंग भी कम होगी। रेड वाइन वेनेगर के सेवन से शरीर में गुड बैक्टीरिया बढ़ जाते हैं। इससे ब्लोटिंग भी कम होती है। टमाटर में हल्का सा नमक छिड़के। इसमें थोड़ा एक्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल डालें।

Loading...
loading...
Comments