सरकारी नौकरी की परीक्षा खोलेगी प्राइवेट नौकरी की राहें

जल्द ही सरकारी नौकरी के लिए दी गई परीक्षा उसके लिए प्राइवेट नौकरी का दरवाजा खोल देगी

अब अगर कोई सरकारी नौकरी पाने के लिए दी गई परीक्षा में असफल हो गया तो उसे निराश होने की जरूरत नहीं है क्योंकि जल्द ही सरकारी नौकरी के लिए दी गई परीक्षा उसके लिए प्राइवेट नौकरी का दरवाजा खोल देगी।

दरअसल सरकार एक ऐसी योजना पर काम कर रही है जिसके तहत अगर कोई यूपीएससी और पीएससी जैसी परीक्षाओं में कामयाब नहीं होता तो ऐसे छात्रों के लिए प्राइवेट नौकरी का दरवाजा खोला जा सके। सरकार इन परीक्षाओं में असफल हुए छात्रों का रिजल्ट एक पोर्टल पर डालेगी ताकि प्राइवेट कंपनियां इन उम्मीदवारों द्वारा परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर अपने यहां नौकरी दे सकें। सरकार को उम्मीद है कि इस प्रयास से सरकारी नौकरी पाने में विफल लोगों को निजी क्षेत्र में बहतर नौकरी मिलेगी।

निजी कंपनियों से संपर्क कर रहा कार्मिक विभाग

इस योजना पर वाणिज्य, कंपनी मामलों के मंत्रालय के साथ केंद्रीय कार्मिक विभाग काम कर रहा है। कार्मिक विभाग एक पोर्टल तैयार कर रहा है जिसमें सभी केंद्रीय सार्वजनिक भर्ती परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्रों का पूरा ब्योरा रहेगा। परिणाम आने के बाद अभ्यर्थियों के नाम, पते, योग्यता, प्राप्त अंक और रैंकिंग को पोर्टल पर डाला जाएगा ताकि निजी सेक्टर की कंपनियां यहां से डेटा लेकर अपने लिए उपयुक्त उम्मीदवारों का चुनाव कर पाएं और उनसे सीधे संपर्क कर सकें। वाणिज्य मंत्रालय इसमें प्राइवेट कंपनियों को शामिल करने के लिए उनसे बात कर रहा है। मंत्रालयों के अधिकारियों का कहना है कि यह योजना तभी सफल हो पाएगी जब प्राइवेट कंपनियां ज्यादा तादाद में इसमें दिलचस्पी दिखाएं। इससे उन्हें बेहतर वर्कफोर्स भी मिल जाएगी।

Loading...
loading...
Comments