देरी से बोलते हैं स्मार्टफोन और टेबलेट से खेलने वाले बच्चे

यदि आप अपने बच्चे को चुप कराने के लिए स्मार्टफोन या टेबलेट का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाइए। यह आदत आपके बच्चे के बोलने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है।  ताजा शोध के मुताबिक नन्हा शिशु अगर ज्यादा समय स्मार्टफोन, टैबलेट और क्रीन वाले दूसरे उपकरणों से खेलने में बिताता है, तो उसके बोलने में देरी हो सकती है।

शोध से पता चलता है कि क्रीन वाले उपकरणों के हर 30 मिनट ज्यादा इस्तेमाल से बोलने में देरी की आशंका 49 फीसदी तक बढ़ जाती है। कनाडा के ओनटोरियो स्थित बाल रोग केन्द्र की विशेषज्ञ कैथरीन बिरकेन का कहना है कि इन दिनों हाथ में पकड़ने वाले उपकरण (स्मार्टफोन, टैबलेट व दूसरे क्रीन वाले उपकरण) हर जगह मौजूद हैं। बच्चे जिद करके ले लेते हैं और उससे देर तक खेलते रहते हैं।

बिरकेन ने कहा कि बच्चों को एक निश्चित समय तक ही क्रीन वाले उपकरणों का इस्तेमाल करना चाहिए। स्मार्टफोन और टैबलेट का इस्तेमाल छोटे बच्चे भी करने लगे हैं। हमारा अध्ययन बताता है कि क्रीन वाले उपकरण हाथ में रखने और बोलने में देरी के बीच गहरा संबंध है।

Loading...
loading...
Comments