योग से मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रहेंगे बच्चे

सभी माता-पिता अपने बच्चों को हमेशा सबसे अच्छा देना चाहते हैं, सही है न? चाहे वह स्वास्थ्य, शिक्षा या अन्य कोई आम वस्तु हो। जब बच्चा जन्म लेता है उस क्षण से ही माता पिता उसके जीवन को बेहतर बनाने के बारे में विचार करना शुरू कर देते हैं। अधिकाँश माता पिता निश्चित रूप से यह जानते हैं कि एक स्वस्थ बच्चा खेलकूद और शिक्षा आदि में हमेशा आगे रहता है। अत बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य को प्राथमिकता देना बहुत आवश्यक है।

बच्चों में भूख बढ़ाने वाले योगासन आजकल बहुत से स्कूलों में बच्चों पर होमवर्क का बहुत अधिक दबाव बनाया जाता है जिससे उसे शारीरिक गतिविधि (खेल कूद आदि) के लिए बहुत कम समय मिलता है। बिना शारीरिक गतिविधि के बच्चा अस्वस्थ हो जाता है अत माता पिता को चाहिए कि वे इस बात का ध्यान रखें कि बच्चा प्रतिदिन कुछ कसरत करे। बच्चों की पीठ से उतारें भारी बस्ते और हाथों में दें ट्रॉली, रिसर्च योग कसरत का एक ऐसा ही प्रकार है जिसे बच्चा प्रतिदिन कर सकता है और इससे बच्चे के शारीरिक और मानसिक सुधार आता है।

1. शारीरिक स्वास्थ्य अच्छा होता है कसरत के अन्य प्रकारों की तरह ही योग भी बच्चे को शारीरिक रूप से फिट और मज़बूत बनाता है। इससे शरीर लचीला और फुर्तीला बनता है। बचपन से ही फिट रहने से कई प्रकार की बीमारियों से बचा जा सकता है।

2. एकाग्रता बढ़ाता है योग में मेडिटेशन के कई प्रकार होते हैं जिसमें व्यक्ति को कुछ देर के लिए शांत रहना पड़ता है। अत योग करने से बच्चे का फोकस, एकाग्रता और मेमोरी पावर (स्मरणशक्ति) भी बढ़ती है जो उसे पढ़ाई में अच्छा प्रदर्शन करने में सहायक होती है।

3. इम्यूनिटी बढ़ाने में सहायक (प्रतिरक्षा शक्ति) योग में गहरी सांस लेने के कुछ तरीके बताये जाते हैं जो बच्चे के संपूर्ण तंत्र को स्वच्छ करता है और उसके आंतरिक अंगों को मज़बूत बनाता है, बच्चे की इम्यूनिटी को बढ़ाता है और इस प्रकार बच्चे को आम बीमारियों से बचाता है।

Loading...
loading...
Comments