25 कारों के मालिक सुल्‍तान के वारिस को चलाना पड़ रहा है रिक्शा

टीपू सुल्‍तान के नाम से कांपते थे अंग्रेज, आज उसका वारिस 25 कारों वाले राजा को चलाना पड़ रहा है रिक्शा

15 अगस्त 1947 को देश की आजादी के साथ ही राजशाही भी खत्म हो गई। जिनमें कई रियासतें ऐसी रही जो धीरे-धीरे खत्म होती गईं। स्वतंत्रता दिवस के इस मौके पर आज हम आपको बताने जा रहा है अर्श से फर्श तक पहुंचने वाले एक ऐसे राजघराने के बारे में जो आज चलाना पड़ रहा है रिक्शा।

25 कारों के मालिक टीपू सुल्‍तान के वारिस: सनवर अली शाह, पूर्व राजा रिक्शा चलाकर आज कर रहे हैं गुजारा। सनवर अली शाह दक्षिण के महान योद्धा टीपू सुल्‍तान के वंशज है।

मौजूदा समय में उनके वंशज अपना परिवार पालने के लिए रिक्‍शा चलाते हैं। पास रहते हैं। अब आप कहेंगे कि इसमें खास बात क्या है, इस देश में लाखों करोड़ों लोग ऐसे ही मेहनत मजदूरी करते हैं। तो सुनिए, जिस टीपू सुल्‍तान के नाम पर बनी शाही मस्जिद के पास सनवर रहते हैं, वो उसी टीपू सुल्तान के वंशज हैं।

इस तस्वीर में आप जिस शख्स को देख रहे हैं, उनका नाम है सनवर अली शाह। सनवर और उनके भाई दिलावर शाह कोलकाता की टीपू सुल्‍तान शाही मस्जिद के पास रहते हैं। दोनों भाई परिवार चलाने के लिए रिक्‍शा चलाते हैं। दिलावर बताते हैं कि वह रोजाना रिक्‍शा खींचकर करीब 300 रुपए कमा लेते हैं और इसी से परिवार का पेट चलता है।

टीपू सुल्‍तान की कुल 12 संतानों में से सिर्फ 5 ही बच सकी थीं। उसमें से सिर्फ दो मुन‍रुद्दीन और गुलाम मुहम्‍मद के बारे में ही जानकारी है। ये दोनों इसी परिवार का हिस्‍सा माने जाते हैं। इतिहास बताता है कि टीपू सुल्‍तान दक्षिण के महान योद्धा थे। जब तक टीपू सुल्तान जिंदा रहे, उनकी मैसूर रियासत के पास फटकने की अंग्रेजों की मजाल तक ना हुई। कहा जाता है कि 1799 में मौत से पहले टीपू सुल्‍तान के पास करीब 90,000 सैनिकों के अलावा तीन करोड़ रुपए थे।

Loading...
loading...
Comments