यहां मरने के बाद देना पड़ता है कब्र में रहने का रेंट

यहां मरने के बाद कब्र में लेटने के लिए वसूला जाता है पैसे

दुनिया में आदमी हमेशा पैसे के पीछे भागते रहते है कहते है मरने के बाद कुछ काम नही आयेगा दौलत। पैसा इंसानी दुनिया में कितना महत्व रखता है ये पढ़ने के बाद आप जान जाएंगे। हम बात कर रहे हैं ग्वाटेमाला की जहां मरने के बाद कब्र में लेटने के लिए भी पैसे वसूला जाता है। सुनने में अटपटा लगता है पर है सच।

इसका सबसे कारण है जमीन की कमी। ऐसा वहां के स्थानिय लोगों का कहना है। यहां कब्र के लिए ऊंची ईमारत बनाई गई है। कब्रों की इस बिल्डिंग में हर फ्लोर पर कई कब्र हैं। लेकिन यहां किसी भी शव को मुफ्त में नहीं रखा जाता, बल्कि उसके लिए किराया देना पड़ता है।

इन कब्र का किराया मरने वाले के परिवार से लिया जाता है। यहां के नियम इतने कड़े हैं कि अगर किसी महीने किराया नहीं दिया जाता तो अगले महीने उस शव को कब्र से बाहर निकाल कर सामूहिक कब्र में फेंक दिया जाता है।

लोग मरने से पहले अपनी कब्र के लिए पैसे का इंतजाम कर लेते हैं। यहां कई कब्रे साफ सुथरी सजी हुई रहती हैं तो कई विरान पड़ी रहती हैं। यहां का ये नियम मरने के बाद भी आदमी को ये भूलने नहीं देता कि वो किस तबके का है।

Loading...
loading...
Comments