अब वर्कआउट के बिना आसानी से घटाएं वजन

फिटनेस डाइट पर निर्भर करती है। वजन का बढ़ना या घटना का जिम्मेदार हमारा मेटाबॉलिज्म होता है। एक ही समय में पेट भरकर खाने से मेटाबॉलिज्म के वर्क करने की स्पीड कम हो जाती है। फिटनेस डाइट पर निर्भर करती है। वजन का बढ़ना या घटना का जिम्मेदार हमारा मेटाबॉलिज्म होता है। ये मेटाबॉलिज्म हमारी बॉडी में एनर्जी बनाए रखने के साथ-साथ कैलोरी को बर्न करने का भी काम करता है। एक ही समय में पेट भरकर खाने से मेटाबॉलिज्म के वर्क करने की स्पीड कम हो जाती है।

प्रॉपर डाइट

भोजन शरीर का जरूरी हिस्सा है इसके बिना बॉडी कमजोर पड़ जाती है। बॉडी में एनर्जी बरकरार रखने के लिए फाइबर वाली चीजों का ज्यादा सेवन करना चाहिए। प्रोटीन से भरपूर भोजन खाएं और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा वाली चीजों का सेवन कम करना चाहिए क्योंकि इससे मसल्स बनती है और इसे डाइजेस्ट करने के लिए मेटाबॉलिज्म का फंक्शन धीमा पड़ जाता है जिससे मोटापा बढ़ता जाता है।

पानी की सही मात्रा

पानी की सही मात्रा शरीर के लिए आवश्यक होती है। पानी की कमी से डिहाइड्रेशन हो जाता है और ये मेटाबॉलिज्म प्रोसेस को धीमा कर देता है। किडनी बॉडी को प्यूरीफाई करती है और डिहाइड्रेशन का सीधा असर किडनी पर ही पड़ता है। कम पानी पीने से बॉडी में फैट जमा होने लगता है।

विटामिन डी से भरपूर चीजें खाएं

विटामिन डी से भरपूर भोजन खाने से शरीर में जमा हो रही एक्स्ट्रा कैलोरी को बर्न किया जा सकता है। विटामिन डी मेटाबॉलिज्म के सही फंक्शन में सहायक होता है इसलिए डेयरी प्रोडक्ट्स और सूरज की किरणें विटामिन डी का अच्छा स्त्रोत होता है।

तीखा खाना और ग्रीन टी पीना लाभदायक

स्पाइसी फूड खाने से शरीर का मेटाबॉलिज्म डबल स्पीड से वर्क करता है जिससे बॉडी में फैट जमा नहीं होता। इसके अलावा दिन में दो बार ग्रीन टी पीने से भी मोटापा दूर किया जा सकता है। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट और कैटेसिचन तत्व होता है जो मेटाबॉलिज्म रेट को बढ़ाता है। फ्लैक्स सीड्स भी अल्फा-लिनोलेनिक एसिड और फैटी एसिड्स का अच्छा स्त्रोत होता है जो कैलोरी बर्न करता है।

मीठे से रहें दूर, लें भरपूर नींद

मीठा वजन तेजी से बढ़ाता है क्योंकि मीठा खाने से शरीर का मेटाबॉलिल्म बहुत स्लो वर्क करता है। इसके अलावा नींद की कमी से भी वजन बढ़ता है। भरपूर नींद लेने से बॉडी रिलेक्स हो जाती है और मेटाबॉलिज्म रेट भी सही तरीके से काम करती है जिससे बॉडी आवश्यक न्यूट्रिशन को एब्जार्ब करती है।

Loading...
loading...

You might also like More from author

Comments