बारिश के मौसम में जरूरी है फुटवियर्स का ध्यान

बारिश का मौसम आते ही हम हर चीज को लेकर थोड़े सतर्क हो जाते हैं चाहे वो कपड़े हों, फैशन हो, मेकअप हो या फिर स्वास्थ्य हो। ऐसे में जरूरी है कि इन सब बातों के साथ-साथ अपने फुटवियर का भी ख्याल रखा जाए।

ऐसे में महिलाएं बारिश के मौसम में जूते-चप्पलों का चुनाव करते समय हमेशा थोड़ा ध्यान रखें। अगर आप कामकाजी महिला हैं और साड़ी पहनती हैं तो इस मौसम में अपने हील्स पहनने में थोड़ी कटौती करें। बारिश में या होने की संभावना लगे तो हील पहन कर बाहर न जाएं। बहुत जरूरी हो तो पहनें पर ख्याल रहे कि उनकी ऊंचाई दो इंच से ज्यादा न हो।

हमेशा इस मौसम में बरसाती जूते या फिर रबड़ के जूते ही पहनें। इन्हें पहन कर कीचड़ में भी चल सकते हैं। ये आपको फिसलने से भी बचाएंगे। इस मौसम में कपड़े के जूतों को पहनने से बचें। गीले होने के बाद इनमें कीटाणुओं का हमला तेजी से होता है। चमड़े के जूते-चप्पल भी इस मौसम के लिए उपयुक्त नहीं है। बारिश में ये फूल जाते हैं। इसलिए इस मौसम में इनका इस्तेमाल बिल्कुल भी न करें। हमेशा चौड़े स्ट्रैप वाली सैंडल्स ही चुनें। आरामदायक होने के साथ-साथ यह आपको बारिश में स्थिरता भी देंगी।

अपने साथ-साथ महिलाओं को अपने बच्चों के फुटवियर्स का भी ध्यान रखना चाहिए। इस मौसम में बच्चे बड़ी ही तेजी से बीमारियों का शिकार होते हैं। ऐसे में पैरों में होने वाला इंफेक्शन भी उनमें से एक है। इस मौसम में हमेशा बच्चों को खुली-खुली चप्पलें ही पहनाएं। रबड़ की चप्पलों को ही प्राथमिकता में लें। स्कूल के लिए भी कैनवस की जगह प्लास्टिक के जूतों को ही खरीदें। फ्लोटर बच्चों की फिटिंग के हों और हमेशा उनके बाहरी मुहाने खुले हुए हों।

Loading...
loading...

You might also like More from author

Comments