इस स्टोर में मिलेंगे ‘सेक्स टॉय’ जो शरिया में मनाही नहीं!

दुनिया में मुस्लिम औरतों को बहुत ज्यादा शरियत से चलने या फिर रहने का अनुमति है। आ गए हैं ऐसे सेक्स टॉय जिन्हें यूज करने की कोई मनाही नहीं है शरिया कानून में। ऐसा कह रही है ये वेबसाइट। जिसका नाम है हलाल एडल्ट स्टोर। नॉटिंघम में रहने वाले बिजनेसमैन हामिद जेब ने खोला है ये ऑनलाइन स्टोर। वेबसाइट पर मात्र 12 प्रोडक्ट बिकते हैं। जिनमें शामिल हैं ‘सिलिकन फिंगर मसागर’ और ‘जी-स्पॉट वॉन्ड’ और ल्यूब्रिकेंट जैसी कई चीजें।

वेबसाइट पर नहीं दिखती एक भी नग्न तस्वीर या सेक्स से जुड़ा कैप्शन।

जेब का मानना है कि मुस्लिम औरतें कभी सेक्स स्टोर्स नहीं देखतीं। क्योंकि इन साइट्स पर नग्न और पोर्नोग्राफिक तस्वीरें होती हैं जो उन्हें अनकम्फर्टेबल फील कराती हैं। जबकि हलाल एडल्ट स्टोर पर कोई भी एक्स-रेट तस्वीर नहीं होगी। स्टोर दिसंबर में खुला था। तबसे हर उम्र के कस्टमर यहां शॉपिंग कर रहे हैं। अब तक सैकड़ों कपल वेबसाइट से सामान खरीद चुके हैं।

जेब की मानें तो इस स्टोर जे खुलने से मुसलामानों में सेक्स को लेकर खुलापन आएगा। जिन बातों को वो सीक्रेट रखते हैं, जिनके बारे में बात करने से कतराते हैं, उन्हें कह पाने के लिए इंस्पायर करेगी। “UK में ऐसा कोई भी स्टोर नहीं है। मैंने कुछ ऐसे प्रोडक्ट्स रखे हैं जिन्हें यूज करने से लोग सेक्स के बारे में ओपेन होंगे।”

अंग्रेजी वेबसाइट वाईस ने कुछ मुसलामान औरतों का इंटरव्यू किया। 27 साल की जुबैदा कहती हैं, मैं हिजाब पहनती हूं। इसका ये मतलब नहीं कि मुझे सेक्स को एन्जॉय करना नहीं आता।”

मेनस्ट्रीम मीडिया से लेकर फिल्मों तक मुसलमान औरतों को धार्मिक और कमजोर दिखाया जाता है। उनकी पहचान को कभी सेक्स से जोड़कर नहीं देखा जाता। जेब की वेबसाइट इस सोच को बदलने का मकसद रखती है। इस्लाम में केवल शादीशुदा लोगों को शारीरिक संबंध बनाने की इजाजत है। पर जेब की मानें तो उनके कस्टमर्स में से 60% सिंगल महिलाएं हैं।

तुर्की में कई हलाल सेक्स शॉप पहले से चल रही हैं। जो गवाह हैं इस बात का कि इस्लाम में भी सेक्स को उसी तरह एन्जॉय किया जाता है जिस तरह बाकी धर्म के लोग करते हैं।

जेब की मानें तो ऐसा स्टोर चलाना आसान नहीं है। सेक्स टॉय भी ‘हलाल’ हो सकते हैं, ये मानने को कई मुसलमान तैयार नहीं हैं। कुछ लोग मानते हैं कि सेक्स का आनंद अपने पार्टनर से ही मिलना चाहिए। इसलिए सेक्स टॉय का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए। बल्कि कुछ मानते हैं कि जब तक सेक्स टॉय को पार्टनर के साथ यूज किया जाए, उसमें कोई मनाही नहीं होनी चाहिए।

एक युवा मुसलमान ब्लॉगर का कहना है, “मुझे नहीं लगता मुसलमानों के लिए अलग से सेक्स स्टोर होना चाहिए। इस तरह हम दुनिया को ये संदेश देते हैं कि हम दुनिया से अलग हैं। जबकि ऐसा नहीं है।”

जेब कहते हैं कि वो आलोचना की परवाह नहीं करते। “अब वक्त आ गया है कि सेक्स को लेकर मुसलामानों की, और मुसलमानों को लेकर लोगों की मानसिकता बदल जाए। मैं उम्मीद करूंगा कि इस साल लोग सेक्स को छिपाने की जगह अपनाएं।”

Loading...
loading...

You might also like More from author

Comments