अब धरती से 37 घंटे में पहुंच सकेंगे मंगल ग्रह

मंगल पर महज कुछ घंटों में पहुंचना संभव हो सकेगा। इमैजिनेटिव नाम की गैर सरकारी संस्था ने एक ऐसी योजना पेश की है। योजना की तहत रेलगाड़ी जैसा एक यान तीन हजार किलोमीटर प्रति सेकेंड की रफ्तार से महज 37 घंटों में मंगल पर पहुंच जाएगा।

इस यान की रफ्तार एक औसत ट्रेन से काफी ज्यादा होगी। इसके साथ ही यह मनुष्य और सामान को मंगल तक आसानी से पहुंचाने में सक्षम होगा। इस यान को सोलर एक्सप्रेस का नाम गया है। योजना के अनुसार इसकी रफ्तार मंगल पर पहुंचने तक एक जैसी होगी। संस्था का कहना है कि अंतरिक्ष की इस यात्रा के दौरान सबसे ज्यादा खर्च रफ्तार बढ़ाने और घटाने पर आएगा।

इस यान का आकार काफी बड़ा और भारी होगा। इसलिए इसको खींचने के लिए काफी ऊर्जा की भी आवश्यक्ता होगी। केवल ईंधन के जरिए ही नहीं बल्कि अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए यह गुरुत्वाकर्षण की ताकत का भी इस्तेमाल करेगा। गुरुत्वाकर्षण की मदद से यह दूसरे ग्रहों और चांद के पास से काफी तेजी से निकल जाएगा। मंगल पर पहुंचते ही इसकी रफ्तार सामान्य हो जाएगी।

Loading...
loading...

You might also like More from author

Comments